Email क्या है-ईमेल की पूरी जानकारी- what is email in Hindi
email kya hota hai

Email क्या है-ईमेल की पूरी जानकारी- what is email in Hindi

Email क्या है, कैसे काम करता है, ईमेल की पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में दी जाएगी

दोस्तों आज हम में से अधिकतर लोग हर दिन किसी न किसी जरुरी काम के लिए अपनी ईमेल आईडी का प्रयोग जरूर करते हैं,

और साथ में जो लोग आईटी सेक्टर, कंप्यूटर सेक्टर, बैंकिंग सेंटर आदि में काम करते हैं, वह दिन भर में सैंकड़ो मेल भेजते हो रिसीव करते हैं, लेकिन हममें से अधिकतर लोगों को ईमेल के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है

Email की शुरुआत रे टॉमलिंसन द्वारा 1971 में की गई थी, और आज यह हम सब की लाइफ का एक महत्वपूर्ण पार्ट बन गया है, जिसका प्रयोग हर दिन हम किसी न किसी तरह जरूर कर रहे हैं

तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको ईमेल, ईमेल एड्रेस, जीमेल, ईमेल में सीसी और बीसीसी क्या होता है, की पूरी जानकारी मिल जाएगी

ईमेल (Email) क्या है, (What is Email in Hindi)?

ईमेल का मतलब, या फुल फॉर्म, इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है

ई-मेल वह इलेक्ट्रॉनिक जरिया है, जिसके माध्यम से हम आपस में मैसेजेस या मेल का एक्सचेंज करते हैं

हममें से अधिकतर लोगों ने कभी न कभी अपने किसी परिचित को या किसी काम से पोस्ट ऑफिस से लेटर जरूर भेजा होगा

जब भी हम पोस्ट ऑफिस से कोई लेटर किसी को भेजते हैं, तो उस लेटर पर एक एड्रेस लिखा होता है, जहां उस लेटर को डिलीवर होना होता है, और लेटर के अंदर मैसेज लिखा होता है

इसी तरह आज हम इलेक्ट्रॉनिकली कोई मैसेज या जिसे मेल भी कहते हैं, किसी ईमेल एड्रेस पर भेज सकते हैं, या रिसीव कर सकते हैं

जब हम किसी ईमेल एड्रेस पर कोई मेल भेजते हैं, तो उस मेल के साथ टेक्स्ट, इमेज फाइल, डॉक्यूमेंट और अन्य अटैचमेंट भी भेज सकते हैं

ई-मेल में हमें एक अच्छी सुविधा यह मिलती है कि हम किसी मेल को एक साथ कई लोगों को भेज सकते हैं

इंफो @ gmail.com ईमेल का एक उदाहरण है

ईमेल एड्रेस क्या होता है?

ईमेल एड्रेस किसी भी ईमेल का पता होता है, जैसे अगर हमारा कोई फिजिकल ऐड्रेस होता है ,तो उसमें उस एरिया का नाम, डिस्ट्रिक्ट का नाम, स्टेट का नाम, और पिन कोड दर्ज होता है
वैसे ही ईमेल के एड्रेस में भी पता दर्ज रहता है

ईमेल एड्रेस को एक आसान उदाहरण से समझते हैं-

मान लिया कि यह एक ईमेल है- Ajay111222@gmail.com

अगर आप इस ईमेल को ध्यान से देखेंगे, तो इसके तीन पार्ट हैं, पहला पार्ट यूजरनेम है, दूसरा पार्ट @ है, और तीसरा पार्ट एड्रेस है

तो यहाँ इस उदाहरण में, आप देख सकते हैं कि @ से पहले का हिस्सा उपयोगकर्ता नाम है, और @ के बाद का हिस्सा पता है, यानी वह पता जहाँ एक मेल पहुँचना है।

ईमेल एड्रेस को और बेहतर समझने के लिए हम एक दूसरा उदाहरण भी लेते हैं-

मान लिया कि यह एक ईमेल है- Ajay111@erajay.com

इस ईमेल एड्रेस के उदाहरण में आप देख सकते हैं, कि हम अपना यूजरनेम जो भी चाहे अवेलेबिलिटी के अनुसार रख सकते हैं
जबकि हमारा ईमेल एड्रेस इस बात पर डिपेंड करता है, कि हमने किस वेबसाइट के साथ अपना ईमेल बनाया हुआ है

email address in hindi
email address in hindi

तो यहां मैं आपको बताता चलूं, जब आप और हम में से अधिकतर लोग गूगल के ओपन प्लेटफार्म जीमेल पर अपना ईमेल अकाउंट बनाते हैं, तो वहां जीमेल वेबसाइट सरवर और मेमोरी का प्रयोग होता है
वही जब मैंने अपनी खुद की वेबसाइट के साथ अपना ईमेल आईडी क्रिएट किया तो, वहां मेरे वेबसाइट पर जो मेमोरी उपलब्ध है, उसी के अनुसार मैं ईमेल आईडी बना सकता हूं, और उसमें उपलब्ध स्पेस का उपयोग कर सकता हूं

आसान भाषा में कहें तो हमारा ईमेल एड्रेस वह होता है, जिस वेबसाइट के साथ, हम अपना ईमेल बनाते हैं

हम ईमेल कैसे भेज सकते हैं?

अगर हमें को ईमेल भेजना है, तो सबसे पहले जरूरत है कि हमारे पास एक वैलिड ईमेल आईडी हो, और एक वैलिड ईमेल ऐड्रेस हो जिस पर हमें ईमेल भेजना है

email kaise bheje
email kaise bheje

हमें Email भेजने के लिए एक सब्जेक्ट लिखना होता है, जिस बारे में वह मेल होता है

सब्जेक्ट के नीचे हम वह सारी बातें लिख सकते हैं जो हमें उस मेल में भेजने की जरूरत है

सबसे नीचे हमें फाइल अटैच करने का ऑप्शन मिलता है जहां से हम कोई डॉक्यूमेंट इमेज या वीडियो भी मेल के साथ अटैच कर सकते हैं

साथ में हमें एक और ऑप्शन सी सी और बीसीसी का मिलता है जिसके बारे में हम विस्तार से इस आर्टिकल में आगे बात करेंगे

सब कुछ देख लेने के बाद की मेल एड्रेस सही है, और सभी बातें मेल में लिख दी गई हैं, हमें सेंड बटन दबाना होता है, जिसके साथ हमारा मेल तुरंत मेलिंग ऐड्रेस पर पहुंच जाता है

ईमेल और जीमेल में क्या अंतर होता है?

ईमेल का मतलब इलेक्ट्रॉनिक मेल होता है, वह इलेक्ट्रॉनिक माध्यम जिसके थ्रू हम कोई मेल भेज और रिसीव कर सकते हैं

जबकि जीमेल जो कि गूगल का एक मेलिंग प्लेटफार्म है, के माध्यम से हम कोई ईमेल किसी भी मेलिंग प्लेटफार्म पर भेज सकते हैं, और किसी भी मेलिंग प्लेटफार्म से रिसीव कर सकते हैं

तो ईमेल एक तरीका है, आपस में कम्युनिकेट करने का, आपस में अपने मैसेजेस को एक्सचेंज करने का,

जबकि जीमेल गूगल का एक ईमेल भेजने और रिसीव करने का ओपन प्लेटफार्म है, जिसे कोई भी फ्री में यूज कर सकता है, जीमेल की तरह ही कई अन्य ओपन मेलिंग प्लेटफार्म है जैसे कि याहू, आउटलुक आदि

ईमेल (Email) में सीसी क्या होता है?

ईमेल में सीसी का मतलब कार्बन कॉपी होता है

जब हम किसी ऑर्गेनाइजेशन में किसी मेल को भेजते हैं, तो जिसे हमें मेल भेजना है उसका मेलिंग ऐड्रेस हम दो बॉक्स में डालते हैं

जबकि अगर हमें उस ईमेल के कार्बन कॉपी को कुछ अन्य लोगों को भी भेजना है, और जिनके बारे में पूरे टीम को पता हो, कि इन सभी लोगों को भी यह मेल भेजा गया है, तो उस मेलिंग ऐड्रेस को हम सीसी ऑप्शन के अंदर डालते हैं

जब भी हम एक टीम के रूप में काम कर रहे होते हैं, तो सीसी मेल भेजते वक्त बहुत उपयोगी होता है, क्योंकि इससे सभी मेंबर्स को यह पता होता है, कि इस मेल और मेल के मैटर के बारे में इन सभी को पता है

ई-मेल में बीसीसी क्या होता है?

ईमेल में बीसीसी का मतलब या फुल फॉर्म, ब्लैंक कार्बन कॉपी होता है

जब हम किसी मेल के कार्बन कॉपी को कई मेंबर्स को एक साथ भेजते हैं, तो उन सब का ईमेल एड्रेस सीसी यानी कार्बन कॉपी ऑप्शन के अंदर डालते हैं

जबकि अगर हम चाहते हैं कि इस मेल का एक कार्बन कॉपी किसी ऐसे व्यक्ति के पास भी चला जाए, जिसको यह मेल तो मिल जाए, लेकिन सीसी ऑप्शन के अंदर जिन लोगों का ईमेल एड्रेस डाला गया है, उनको उस बीसीसी ऑप्शन के ईमेल एड्रेस के बारे में पता ना चले

तो मतलब यह हुआ कि अगर हम मेल भेजने के दौरान किसी ईमेल एड्रेस को बीसीसी ऑप्शन के अंदर डाल देते हैं, तो उस व्यक्ति को मेल तो मिल जाएगा, लेकिन उस व्यक्ति के बारे में मेल सेंडर के अलावा किसी अन्य व्यक्ति को पता नहीं होगा

ई-मेल के फायदे

ई-मेल का उपयोग करने के कई फायदे हैं, इसी कारण आज हम सभी ईमेल का प्रयोग आपने कभी जरूरी काम के लिए करते हैं, और हर दिन ईमेल का उपयोग बढ़ता ही जा रहा है

  • ई-मेल का एक बहुत बड़ा फायदा यह है कि यह इंस्टैंटली आपके मेल को सेंड कर देता है, और दर्ज किए गए ईमेल एड्रेस पर डिलीवर कर देता है
  • हम ईमेल में टेक्स्ट के साथ-साथ कई अन्य तरह के डॉक्यूमेंट, इमेज और वीडियो भी अटैच कर भेज सकते हैं
  • आज किसी भी तरह की डिजिटल सर्विस का उपयोग करने के लिए आपके पास ईमेल आईडी का होना जरूरी है, जैसे कि आप फेसबुक या इंस्टाग्राम या कोई भी सरकारी स्कीम का फायदा उठाना चाहते हैं, तो आपको अपना ईमेल आईडी जरूर बताना होगा
  • किसी मेल को हम एक साथ कई लोगों को बिना किसी एक्स्ट्रा मेहनत के आसानी से भेज सकते हैं
  • एक जब भी हमको ईमेल भेजते या रिसीव करते हैं तो वह एक प्रूफ के तौर पर हमारे पास रह जाता है, जो कई बार बहुत मददगार साबित होता है
  • ऑनलाइन बैंकिंग ट्रांजैक्शन में ईमेल और मोबाइल का महत्वपूर्ण योगदान होता है

Admin

अजय कुमार एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं, जो एक दशक से अधिक समय से शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। उनकी शिक्षा और टेक्नोलॉजी से संबंधित वेबसाइट और YouTube चैनल को लोगों ने काफी पसंद किया है। वह आसान भाषा में टेक्निकल टर्म को समझाने के लिए प्रसिद्ध हैं।यह लेख आपको कैसा लगा? अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है, तो कृपया कमेंट करें ।सोशल मीडिया पर लेखक को फॉलो करें।